Bgs Raw
Bgs Raw Subscribe our Youtube Channel
Follow
Offer : Get Bestselling haircare products starting from 99 INR Shop now ›

UPSC में डंका अंकिता का बचपन बिहार में बीता, मजदूर के बेटे विशाल को भी मिली सफलता

Ankita's childhood passed in Bihar, the laborer's son Vishal also got success here

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा का फाइनल रिजल्ट जारी कर दिया गया है। इस बार लड़कियों ने हैट्रिक लगाई है।

top 10 upsc toppers list 2021-2022: UPSC Civil Services Result Declared

जहां तक बिहार की बात है तो पिछले साल के टॉपर शुभम बिहार के रहने वाले थे। इस साल बिहार ने दूसरा टॉपर दिया है। दरअसल पश्चिम बंगाल में रहने वाली दूसरी टॉपर अंकिता अग्रवाल मूल रूप से बिहार के मधेपुरा की रहने वाली हैं।

advertisement

उनका बचपन मधेपुरा के बिहारीगंज में बीता। सफल उम्मीदवारों में मुजफ्फरपुर के विशाल कुमार भी शामिल हैं, जो एक मजदूर के पिता के बेटे हैं। 

बिहार से हैं सेकेंड टापर अंकिता अग्रवाल

advertisement

टॉपर्स की बात करें तो पहले स्‍थान पर श्रुति शर्मा (Shruti Sharma) हैं। जबकि, अंकिता अग्रवाल व गामिनी सिंगला क्रमश: सेकेंड व थर्ड टॉपर बनीं हैं। पहले तीन स्‍थान पर लड़कियों का कब्‍जा है। टॉपर श्रुति शर्मा बिजनौर की रहने वाली हैं। उन्‍होंने दिल्‍ली के सेंट स्‍टीफेंस कालेज व जवाहरलाल नेहरू विश्‍वविद्यालय से शिक्षा प्राप्‍त की है। सेकेंड टॉपर अंकिता अग्रवाल बिहार के मधेपुरा जिले के बिहारीगंज की मूल निवासी हैं। बिहारीगंज में उनका पैतृक घर है। प्रारंभिक पढ़ाई बिहारीगंज में ही हुई थी। इसके बाद उच्च शिक्षा कोलकाता व दिल्ली में प्राप्‍त की। वर्तमान में उनका परिवार कोलकाता में रहता है। पिता मनोहर अग्रवाल कोलकाता में हार्डवेयर के व्यवसायी हैं।

सिविल सेवा परीक्षा 2021 के पहले 10 टॉपर

  1. श्रुति शर्मा
  2. अंकिता अग्रवाल
  3. गामिनी सिंगला
  4. ऐश्वर्य वर्मा
  5. उत्कर्ष द्विवेदी
  6. यक्ष चौधरी
  7. सम्यक एस जैन
  8. इशिता राठी
  9. प्रीतम कुमार
  10. हरकीरत सिंह रंधावा

फाइनल रिजल्‍ट में बिहार के कई चेहरे

  • सिविल सेवा परीक्षा में बिहार के कई अभ्‍यर्थियों ने सफलता हासिल की है। मोतिहारी के पताही प्रखंड स्थित नारायणपुर गांव निवासी शुभंकर प्रत्यूष पाठक को 11वीं रैंक मिली है। उनके पिता आरके पाठक भारत सरकार में तकनीकी विकास बोर्ड में सचिव हैं। उन्‍होंने आइआइटी धनबाद से बीटेक किया है। 16वीं  रैंक वाली अंशु प्रिया भी बिहार की हैं। पटना के बिस्कोमान कालोनी के निवासी हरेंद्र सिंह के पुत्र आशीष ने परीक्षा में 23वां स्थान प्राप्त किया है। हरेंद्र सिंह शेखपुरा जिले के बरबीघा में प्राइवेट आइटीआइ कालेज का संचालन करते हैं।
  • कटिहार जिले के अमन अग्रवाल को 88वां रैंक मिला हे। उनके पिता दुर्गा लाल अग्रवाल कटिहार के राज हाता के रहने वाले हैं। यूपीएससी की सिविल सर्विस परीक्षा में मुजफ्फरपुर के दो युवकों ने परचम लहराया है। दोनों जिले के मीनापुर प्रखंड के हैं। प्रखंड के अभिनव ने 146वीं रैंक हासिल की है। मारवाड़ी हाई स्कूल के शिक्षक उमेश्वर सिंह के पुत्र अभिनव ने आइआइटी रूड़की से बीटेक की डिग्री ली है। औरंगाबाद की शुभ्रा शर्मा को 197वीं रैंक आई है। वे ओबरा प्रखंड के मखरा गांव निवासी अरुणजय शर्मा की पुत्री हैं।
  • उत्तर पूर्वी दिल्ली जिलाधिकारी कार्यालय में तैनात दानिक्स अधिकारी सोनिका कुमारी की 261वीं रैंक आई है। वे मूल रूप से बिहार के कटिहार की रहने वाली हैं। उनके पिता प्रकाश साह वायुसेना में हैं। 272 रैंक हासिल करने वाले विद्यासागर भी बिहार के निवासी हैं।
  • मुजफ्फरपुर के मीनापुर प्रखंड के मुकसुदपुर के रहने वाले विशाल कुमार को 484वां रैंक मिली है। विशाल कुमार के मजदूर पिता बिकाऊ प्रसाद की मौत के बाद परिवार कर्ज में डूब गया था। मैट्रिक की परीक्षा में जिला टापर रहे, फिर पूर्व डीजीपी अभयानंद की सानिध्य में पढ़ाई की और आइआइटी कानपुर में केमिकल इंजीनियरिंग में बीटेक करने के बाद एक कोचिंग संस्थान से जुड़कर अध्यापन कार्य करने लगे। समाज की मदद और अपनी मेहनत के बल पर मजदूर का बेटा यूपीएससी की सिविल सर्विस परीक्षा में सफल हुआ।

📣 Bgs Raw is now available on FacebookTelegram, and Google News. Get the more different latest news & stories updates, also you can join us for WhatsApp broadcast ... to get updated!

Here you find are all about digital

Post a Comment