Bgs Raw
Bgs Raw Subscribe our Youtube Channel
Follow
Offer : Get Bestselling haircare products starting from 99 INR Shop now ›

बिहार में धूम मचा रहे हैं ये अंग्रेजी बोलने वाले चायवाले, ग्रेजुएट चायवाली के बाद अब आत्मनिर्भर चायवाले की चर्चाएं

These English speaking chaiwalas are making a splash in Bihar, after the graduate chaiwala, now the discussions of the self-sufficient chaiwala
These English speaking chaiwalas are making a splash in Bihar, after the graduate chaiwala, now the discussions of the self-sufficient chaiwala

बिहार की राजधानी पटना में इन दिनों दो चायवालों की चर्चाएं हैं। बोरिंग कैनाल रोड में स्नातक चायवाली का स्टाल और गांधी मैदान के पास आत्मनिर्भर चायवाली का स्टाल सजाया जाता है।

अपने साहस के बल पर बेरोजगारी को मात देने वाली दोनों लड़कियां पीएम मोदी के आत्मनिर्भर भारत के विजन से प्रेरित हैं।

ग्रेजुएट चायवाली’ (Graduate Chaiwaali) के बाद अब ‘आत्मनिर्भर चायवाली’ (Aatmanirbhar Chaiwaali) के टी-स्‍टाल (Tea Stall) पर भीड़ उमड़ती दिख रही है।

advertisement

After 'Graduate Chaiwaali', now 'Self-Reliant Chaiwaali' (Aatmanirbhar Chaiwaali)


खास बात यह है कि दोनों ने बेरोजगारी के दौर में चाय की पटरी पर रोजगार का विकल्प तलाशा है। दोनों चाय विक्रेता उच्च शिक्षा और धाराप्रवाह अंग्रेजी के साथ अंग्रेजी बोलते हैं।

पटना में इन दिनों 'चायवाली' की चर्चा

इन दिनों पटना में 'ग्रेजुएट चायवाली' की चर्चा चल रही थी कि अब बाजार में एक 'अप्रतिष्ठ चायवाली' भी आ गई है। बीसीए (बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन) की पढ़ाई के बाद जब मोना पटेल को महज 15 हजार की नौकरी मिली तो उन्होंने चाय बेचने का फैसला किया।

Discussion of 'Atmanirbhar Chaiwali' in Patna these days


advertisement

इसके पीछे पटना में 'ग्रेजुएट चायवाली' के नाम पर आई प्रियंका की सक्सेस स्टोरी भी प्रेरणा बन गई। फिर क्या था, मोना ने नौकरी छोड़ दी और परिवार को बताए बिना पटना के गांधी मैदान के पास चाय बेचने लगी।

पीएम मोदी को प्रेरणा मानते हैं

मोना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपनी प्रेरणा बताया है। मूल रूप से समस्तीपुर का रहने वाला है। पिता कुंदन पटेल एक निजी स्कूल में शिक्षक हैं।

Mona describes Prime Minister Narendra Modi as her inspiration

पटना के जेडी वीमेंस कॉलेज से साल 2021 में बीसीए करने के बाद सिर्फ 15 हजार की नौकरी मिली, तब मोना का मन नहीं लगा।

इसी बीच नौकरी न मिलने पर जब उन्होंने पटना वीमेंस कॉलेज के पास चाय बेचने वाले 'ग्रेजुएट चायवाली' की सफलता की कहानी सुनी तो मेना ने भी ऐसा ही करने का फैसला किया।

पटना गांधी मैदान के पास चाय की दुकान

पटना के गांधी मैदान के पास मोना की चाय की दुकान आकर्षण का केंद्र बन गई है। उनकी मसाला चाय, कुल्हड़ चाय और पान की चाय ग्राहकों को खूब पसंद आ रही है।

उसे चार से पांच तरह की चाय 10 से 20 रुपये तक की कीमत पर बेचकर वह रोजाना चाय बेचकर एक हजार रुपये तक कमा लेती है।

नौकरी नहीं मिली तो बन गई ‘ग्रेजुएट चायवाली’

अब बात टी-स्‍टाल खोलने में मोना की प्रेरणा बनी ‘ग्रेजुएट चायवाली’ प्रियंका गुप्‍ता की। बनारस हिंदू विश्‍वविद्यालय (BHU) से अर्थशास्‍त्र में स्‍नातक करेन के बाद जब नौकरी नहीं मिली, तब प्रियंका ने दोस्तों की मदद से पटना वीमेंस कॉलेज (Patna Women’s College) के पास अपना टी स्‍टाल लगा दिया।

Didn't get a job, became 'Graduate Chaiwali'



प्रियंका के चाय टी स्‍टाल पर ठेठ अंदाज में लिखी पंचलाइन- ‘पीना ही पड़ेगा’ और ‘सोच मत…चालू कर दे बस’ जोगों को बरबस आकर्षित करने लगे।

आमदनी बढ़ी तो प्रियंका ने अब अपना बड़ा स्‍टाल पटना के बोरिंग केनाल रोड में एसके पुरी पार्क (SK Puri Park, Patna) के पास शिफ्ट कर दिया है।

कड़ी मेहनत करें बहाने न बनाएं

बनमनखी में किराने की दुकान चलाने वाले प्रभाकर प्रसाद गुप्ता उर्फ जानी की बेटी प्रियंका को चाय बेचने का विचार, पूर्णिया आईआईएम अहमदाबाद (आईआईएम, अहमदाबाद) के पास चाय की दुकान लगाने वाले 'एमबीए चाय वाला' प्रफुल्ल बिल्लोर को चाय बेचने का आइडिया। सफलता मिली।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के विजन से प्रेरित होकर वह बेरोजगारी की दुहाई देने वाले लोगों को पढ़ लिखकर बताती हैं कि मेहनत करो, बहाने बनाने से काम नहीं चलेगा।

📣 Bgs Raw is now available on FacebookTelegram, and Google News. Get the more different latest news & stories updates, also you can join us for WhatsApp broadcast ... to get updated!

Here you find are all about digital

Post a Comment